Category: Vedic Astrology

The following articles are under the category of “Vedic Astrology”

जानिये नींद और ग्रहों के बीच संबंध – Janiye Neend Aur Grahon Ke Bich Sambandh

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, जन्म कुंडली का पहला अर्थात लग्न, चौथा, अथवा और बारहवा भाव शैया सुख अर्थात नींद से

Read More

चंद्र ग्रहण दोष से बचाव? चंद्र ग्रहण दोष की पूजा विधि (Chandra Grahan Dosh Se Bachav? Chandra Grahan Dosh Ki Puja Vidhi)

जन्म कुंडली में चन्द्रमा जब राहु या केतु के साथ विराजमान हो तो चंद्र ग्रहण दोष का निर्माण होता है।

Read More

कुंडली के 12 भावों में शनि और केतु युति का फल (Kundali Ke 12 Bhavon Me Shani Aur Ketu yuti Ka Fal)

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, एक तरफ जहां शनि न्याय, आदेश और अनुशासन का कारक ग्रह है वहीं दूसरी ओर केतु

Read More

कुंडली के 12 भावों में गुरु और मंगल युति का फल (Kundali Ke 12 Bhavon Me Guru Aur Mangal yuti Ka Fal)

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, जहां गुरु शिक्षा, परोपकार, और विस्तार का कारक ग्रह है और वहां मंगल क्रोध और ऊर्जा

Read More

कुंडली के 12 भावों में चंद्रमा और मंगल युति का फल (Kundali Ke 12 Bhavon Me Chandrama Aur Mangal yuti Ka Fal)

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, जहाँ चन्द्रमा मन और भावनाओं का कारक ग्रह है और वहां मंगल क्रोध और ऊर्जा का

Read More