Sign In

बाल झड़ना कारण, उपाय और घरेलू नुस्खें (Bal jhdna, Karan, upay aur ghrelu nushkhen)

बाल झड़ना कारण, उपाय और घरेलू नुस्खें (Bal jhdna, Karan, upay aur ghrelu nushkhen)

Reading Time: 5 minutes
Aarticle Rating
3.7/5

बाल झड़ना बहुत ही आम समस्या है। लेकिन सही वक्त पर इसका इलाज करना उतना ही जरूरी है। आजकल कामकाज के लिये लोगों का भाग दौड़ उनकी जीवनशैली और खानपान इतनी बुरी और व्यस्त हो गई है कि इसका सीधा असर लोगों के बालों पर पड़ता है। ऊपर से दिन प्रतिदिन दिन प्रदूषण का बढ़ना और तरह-तरह के हेयर प्रोडक्ट केमिकल का सीधे तौर पर बालों पर इस्तेमाल करना भी बालों के झड़ने का मुख्य कारण है। आज हम आपको बाल झड़ने से संबंधित समस्या से निजात पाने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों को बताने वाले हैं। सबसे पहले जानेंगे कि बाल झड़ना क्या है? और किस प्रकार आप कुछ घरेलू उपाय का इस्तेमाल करके बाल झड़ने संबंधित समस्याओं से बच सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं :

बालों का झड़ना क्या है? (What is hair fall?)

आजकल हर दूसरा इंसान बाल झड़ने से परेशान हैं। कई लोगों के बाल तो उनके उम्र से पहले ही झड़ने लगते हैं। जिसके कारण उन्हें हेयर ट्रांसप्लांट भी कराना पड़ता है। जब भी बालों का झड़ना थोड़ा-थोड़ा करके बढ़ने लगे तो गंजा होने की नौबत तक आ जाती है। सामान्यतः 50 से 100 बार लगभग यदि हर दिन आपके बाल झड़ रहे हैं। तो यह गंजेपन का विषय है। इस अवस्था में आने से पहले बालों का झड़ना रोकने के लिए आपको कुछ घरेलू नुस्खों या उपायों को आजमाना सही रहेगा। 

क्या आपको पता है कि गंजापन या बालों का झड़ना दो तरह का होता है? 

बालों का झड़ना सामान्यतः 30 साल की उम्र के बाद ही शुरू होता है। पुरुषों में इस समस्या को मेल पैटर्न बाल्डनेस कहते हैं और महिलाओं में इसे फीमेल पैटर्न बाल्डनेस कहते हैं। सामान्यतः महिलाओं में पूरे सिर के बाल यदि कम भी हो जाए तो भी सर के पीछे के बाल नहीं झड़ते और इसलिए महिलाएं  कभी भी पूरे रूप से गंजेपन की समस्या की शिकार नहीं होती।  

बालों का झड़ना कैसे बंद करें घरेलू उपाय (Causes of Hair Fall in Hindi)

सामान्यतः बाल कई कारणों के कारण झड़ते हैं जैसे कि – गलत जीवनशैली, अनुवांशिकता, संतुलित आहार तथा कई दवाओं के दुष्प्रभाव आदि के कारण। चलिए इन कारणों के बारे में और भी विस्तार से जानते हैं :

  • कोई लंबी बीमारी, शल्य क्रिया या सर्जरी या फिर गंभीर संक्रमण, किसी शारीरिक तनाव से दो या तीन महीनों के बाद बालों का झड़ना एक साधारण प्रक्रिया है।
  • हार्मोन के स्तर में बदलाव होने के कारण भी बाल झड़ते हैं और यह विशेष रूप से स्त्रियों में बच्चों को जन्म देने के बाद।   
  • दवाइयों का दुष्प्रभाव भी एक कारण है। 
  • किसी बीमारी के लक्षण के रूप में भी बालों का झड़ना संभव हो सकता है जैसे कि : थायराइड, हार्मोन असंतुलन, गंभीर पोषाहार समस्या जिसमें – प्रोटीन, जिंक, बायोटिन की कमी भी हो सकती है। ज्यादातर खानपान में परहेज या फिर स्त्रियों में मासिक धर्म में बहुत ज्यादा या यह बहुत कम रक्तस्राव होने के कारण के कारण भी हो सकता है।
  • सिर की त्वचा में फफूंद लगने से भी बालों में संक्रमण हो जाता है जिससे बाल अधिक झड़ते हैं। 
  • वंशानुगत गंजापन या आनुवंशिकता के आधार पर भी बाल अधिक झड़ते हैं।

आयुर्वेद के दृष्टिकोण से बाल झड़ने के कई कारण है। आयुर्वेद के अनुसार वात के साथ यदि पित्त मिल जाए तो रोम कूपों में जाकर बालों को गिरा देता है तथा इसके अनंतर यदि यह रक्त के साथ मिलता हो तो कफ रोमकूपों को भी बंद कर देता है और इस कारण उस जगह पर बाल नहीं उगते। इसके साथ बाल गिरने का एक कारण नहीं बल्कि कई कारण है जैसे कि – 

नमक का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना। इसके अलावा तनाव, हार्मोन असंतुलन, संक्रमण और पर्याप्त पोषण, अपर्याप्त नींद विटामिन या फिर शरीर में पोषक पदार्थों की कमी होना, दवाओं का दुष्प्रभाव और बालों का सही रूप से देखभाल न करना साथ ही गलत शैंपू का प्रयोग करना यह सभी कारण हो सकते हैं।

इनके अलावा पित्त वर्धक आहार-विहार, मिथ्या, अतियोग, निद्रा, ब्रह्मचर्य, प्रदूषित जल होता है। बाल झड़ने के अनेकों कारण है और हर कारण के लिए अगर सही घरेलू नुस्खे को आजमाया जाए तो नए बाल का विकास भी संभव है। इसके अलावा आधुनिक विज्ञान के अनुसार बाल झड़ने के अन्य और भी कई कारण है जैसे कि :

  • फंगल इंफेक्शन 
  • थायराइड
  • विटामिन ए का ओवरडोज 
  • मनोवैज्ञानिक तनाव 
  • रेडियोथेरेपी या केमोथेरपी। 
  • स्टेरॉयड का नियमित सेवन। 

लेकिन अगर ठीक समय पर आप सचेत हो जाते हैं और बालों के झड़ने का सही इलाज करते हैं तथा घरेलू नुस्खों को भी आजमाते हैं तो आपका बाल झड़ना काफी हद तक कम हो सकता है।

बालों के झड़ने से रोकने के लिए घरेलू उपाय

आमतौर पर बालों के झड़ने पर घरेलू नुस्खा को ही अपनाया जाता है। इनमें वही चीजें शामिल होती है जो घर पर आसानी से मिल जाए और उनका इस्तेमाल किया जा सके तो चलिए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं :

बाल झड़ना कम करें प्याज का रस

यदि आपके बाल बहुत झड़ते हैं तो इसमें प्याज का रस आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। इस प्रक्रिया में आप रात में प्याज के रस से अपने सिर को अच्छे से मसाज करें और सुबह अपने बालों को धो ले। प्याज के रस में सल्फर की मात्रा अधिक होती है। यह टिशू में मौजूद कोलाजेन के उत्पादन को बढ़ावा देता है। बाल झड़ने की दवा के रूप में प्याज के रस का प्रयोग किया जाता है जिससे कि बाल झड़ना बंद हो जाता है और साथ ही नए बाल उगने लगते हैं और इसके अलावा प्याज के रस के साथ किस जगह पर लहसुन या अदरक के रस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए तेल मसाज के फायदे :

यदि आपके बाल बहुत झड़ रहे हैं तो आप प्राकृतिक तेल जैसे कि नारियल का तेल ऑलिव ऑयल या कनोला ऑयल से अपने सिर का मसाज कर सकते हैं इसके लिए आप तेल को पहले हल्का सा गुनगुना कर ले और फिर इस तेल से आप अपने स्कल्प पर रोज मसाज करें। इस के बाद सिर पर एक शावर कैप को पहने और करीब 1 घंटे बाद शैंपू कर लें। बालों को झड़ने से रोकने में यह उपाय बहुत ही कारगर सिद्ध होता है।

ऐसा माना जाता है कि बाल झड़ने पर हर दिन सिर की मसाज कुछ मिनटों के लिए अवश्य करना चाहिए इससे शरीर में रक्त प्रवाह अच्छी तरह से होता है। जिससे कि केश कूप भी सक्रिय होते हैं और इस तरह से सिर का मसाज करने से बालों का झड़ना कम हो जाता है।

बालों को झड़ने से रोकने में बादाम का तेल भी काफी लाभदायक सिद्ध होता है। विशेषज्ञों की माने तो बाल रूखे और बेजान होने के कारण झड़ने लगते हैं। इसमें बादाम के तेल से सिर का मालिश करने से या मसाज करने से बाल जड़ से मजबूत होते है। 

बाल झड़ने से रोकने में हिना और मेथी के पाउडर के फायदे :

बाल को झड़ने से रोकने में मेथी और हिना का पाउडर आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। इसके लिए हिना और मेथी पाउडर को मिलाकर उसका पेस्ट तैयार करें और इस पेस्ट को अपने बालों और स्कल्प पर लगाएं। सूखने के बाद बालों को सादे पानी से धो लें। इसका नियमित रूप से उपयोग करने पर बालों का झड़ना कम हो जाता है।

ग्रीन टी से करें बालों का झड़ना बंद :

बालों को झड़ने से रोकने के लिए ग्रीन टी को दवा के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।  इसके लिए ग्रीन टी को एक कप पानी में मिलाकर उसे अपने सिर पर लगाना होता है और इसे करीब 1 घंटे तक सिर पर लगे रहने के लिए छोड़ दें। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो बालों को झड़ने से रोकता है।

नमक और काली मिर्च से करें बालों का झड़ना बंद :

बालों को झड़ने से रोकने के लिए आप नमक और काली मिर्च का भी प्रयोग कर सकते हैं।  इसके लिए आप पिसी हुई नमक और काली मिर्च की एक-एक चम्मच मात्रा ले और उसमें नारियल का तेल कम से कम 5 चम्मच मिलाएं और इसे अपने सिर पर लगाएं। यह बालों को झड़ने से रोकने में काफी मददगार है।

नींबू और नारियल के तेल से रोके बालों का झड़ना :

यदि आप बाल झड़ने से परेशान हैं तो इसमें नींबू और नारियल का तेल आपके लिए काफी मददगार सिद्ध होगा। बालों का झड़ने या फिर टूटने पर नींबू के रस में दोगुना बराबर नारियल का तेल मिला ले और फिर उंगलियों के अग्रिम भाग से अपने बालों में हल्के हाथों से मसाज करें। इससे बाल झड़ना जल्द से जल्द बंद होगा।

Frequently Asked Questions

1. बाल झड़ने का कारण क्या है ?

बाल झड़ने के कई कारण है जैसे की : गलत जीवनशैली, अनुवांशिकता, संतुलित आहार तथा कई दवाओं के दुष्प्रभाव आदि।

2. बाल झड़ने से रोकने के लिए कौन से तेल से मसाज करें ?

बाल झड़ने से रोकने के लिए आप नारियल तेल, बादाम का तेल, सरसो तेल, ओलिव आयल आदि का इस्तेमाल कर सकते है।

3. बाल झड़ने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए ?

अगर आपके बाल प्रतिदिन एक बार में 50 से 100 बाल टूट रहें हो तो आपको डॉक्टर के पास अवश्य जाना चाहिए।

4. क्या बाल झड़ना किसी बीमारी के संकेत भी हो सकते है ?

जी हाँ, बाल झड़ना बीमारी का संकेत भी हो सकता है।