Sign In

सूर्यास्त होने के बाद भूल से भी न करें ये 10 कार्य, रूठ जाएँगी माँ लक्ष्मी (Suryast Hone Ke Baad Bhul Se Bhi Na Kare Ye 10 Karya, Ruth Jayengi Maa Lakshmi)

सूर्यास्त होने के बाद भूल से भी न करें ये 10 कार्य, रूठ जाएँगी माँ लक्ष्मी (Suryast Hone Ke Baad Bhul Se Bhi Na Kare Ye 10 Karya, Ruth Jayengi Maa Lakshmi)

Reading Time: 3 minutes
Article Rating
3.8/5

“सनातन धर्म, ज्योतिष तथा पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सूर्यास्त होने के बाद कुछ ऐसे भी कार्य होते हैं जो वर्जित हैं अर्थात जिन्हें नहीं करना चाहिए। ऐसे कार्यों को करने से घर में कोई ना कोई बीमारी, शोक तथा संकट पैदा होती हैं और साथ ही साथ देवी लक्ष्मी भी रूठ जाती है और घर में दरिद्रता का वास होता है।”

आइये जान लेते हैं, उन्हीं कार्यों में से 10 ऐसे विशेष कार्यों के बारे में जिन्हें भूलवश भी नहीं करना चाहिए वर्ना सिर्फ पछतावा ही हाथ लगेगी। ये 10 विशेष कार्य इस प्रकार हैं :

सूर्यास्त होने के बाद भूल से भी न करें ये 10 कार्य : (suryast ka samay bhul se bhi na kare ye 10 karya) 

सूर्यास्त के पश्चात स्नान करना :

बहुत से लोग पूरे दिन में दो समय स्नान करते हैं सूर्योदय होने के बाद तथा सूर्यास्त होने के बाद। लेकिन यदि आप सूर्यास्त होने के बाद स्नान करते हैं तो अपने मस्तक यानी कि माथे पर चंदन का टीका न लगाएं और रात में स्नान करने से शीत का प्रकोप भी काफी बढ़ जाता है।

शाम के वक़्त नाखून, बाल तथा दाढ़ी काटना :

हिन्दू मान्यता के अनुसार, ऐसा कहा जाता हैं कि रात्रि में बाल, नाख़ून नहीं काटना चाहिए तथा सेविंग भी नहीं करना चाहिए। इससे जहां एकतरफ नाकारात्मक असर होता है वहीं दूसरी तरफ कर्ज भी बढ़ता है।

सूर्यास्त के पश्चात दूध पीना : 

सूर्यास्त के पश्चात या रात में दूध बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिए क्योंकि दूध की तासीर काफी ठंडी होती है।

सूर्यास्त के पश्चात पेड़, पौधों को छूना या जल देना :

सूर्यास्त होने के बाद पेड़, पौधों को छूना, पेड़ों के पत्ते तोड़ना या उन्हें पानी देना अच्छा नहीं माना जाता है। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार सूर्यास्त के बाद पेड़, पौधें सो जाते हैं। सूर्यास्त होने के बाद भूल से भी आप तुलसी के पौधे को न छुवें और ना ही उसमे जल ढालें।

सूर्यास्त के पश्चात कपड़े धोना और सूखाना :

सूर्यास्त होने के बाद कपड़े धोना या सूखाना अच्छा नहीं माना जाता है। ऐसा माना जाता है की आकाश से नकारात्मक उर्जा कपड़ों में प्रवेश कर जाती है इससे कपड़ों पर बैक्टीरिया की संख्या भी बढ़ने लगती है। ऐसा भी माना जाता है कि उन कपड़ों को पहनने वाला व्यक्ति रोगी हो जाता है।

सूर्यास्त के पश्चात खाना खुला रखना :

सूर्यास्त के बाद भूल से भी भोजन या जल को खुला नहीं छोड़ना चाहिए।  भोजन तथा जल को सदैव ढक कर ही रखना चाहिए। हिन्दू मान्यताओं के अनुसार खाना, पानी खुला छोड़ने से उसमें नकारात्मक गुण काफी बढ़ जाते हैं।

सूर्यास्त के पश्चात अंतिम संस्कार नहीं करना चाहिए :

गरुण पुराण के अनुसार, सूर्यास्त होने के बाद अंतिम संस्कार नहीं करना चाहिए।  यदि ऐसा किया जाये तो, मृतक या मरने वाले को मोक्ष नहीं मिलता और वो परलोक में कष्ट भोगता हैं और अगले जन्म में उस व्यक्ति के अंगों में खराबी भी आ सकती है।

सूर्यास्त के पश्चात दही या चावल का सेवन :

सूर्यास्त होने के बाद दही नहीं खाना चाहिए। इतना ही नहीं दही का दान भी नहीं करना चाहिए। ज्योतिष में दही का सीधा संबंध शुक्र ग्रह के साथ बताया गया है तथा शुक्र ग्रह को धन वैभव का देव यानी की प्रदाता भी माना गया है। सूर्यास्त के वक़्त या सूर्यास्त होने के बाद, यदि आप दही का दान करते हैं तो ऐसा करने से आपकी सुख-समृद्धि भी चली जा सकती है। इसी प्रकार सूर्यास्त होने के बाद आप चावल का सेवन भी वर्जित है। जैन धर्म के अनुसार, तो सूर्यास्त होने के बाद भोजन भी नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे शरीर में  रोग बढ़ता हैं। इसके अलावा और भी कई नुकसान होते हैं।

सूर्यास्त के पश्चात झाड़ू-पोछा नहीं लगाना चाहिए :

हिन्दू मायताओं के अनुसार, सूर्यास्त होने के बाद कभी भी घर में झाड़ू-पोछा या साफ-सफाई नहीं करना चाहिए। सूर्यास्त होने के बाद घर में झाड़ू लगाने से धन की हानि होना शुरू हो जाता है।

सूर्यास्त के पश्चात सोना वर्जित है :

सूर्यास्त होने के ठीक बाद में या सूर्यास्त के समय हिन्दू मान्यताओं के अनुसार सोना वर्जित माना जाता है। साथ ही साथ सूर्यास्त के समय भोग तथा स्त्री के संग सोना भी वर्जित माना जाता है। इससे स्वास्थ्य पर बहुत ही बुरा यानी की प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इससे धन तथा सेहत की भी हानि होती है। शास्त्रों के अनुसार, सूर्यास्त का समय पूजा-वंदना के लिए सुनिश्चित किया गया है।

Frequently Asked Questions

1. क्या सूर्यास्त के बाद तुलसी के पौधें में जल चढ़ा सकते हैं ?

जी नहीं आप सूर्यास्त के बाद तुलसी के पौधें में जल चढ़ा सकते हैं ।

2. क्या सूर्यास्त के पश्चात सोना अच्छा होता है ?

जी नहीं, सूर्यास्त के बाद सोना अच्छा नहीं होता।

3. क्या सूर्यास्त के पश्चात घर की साफ़ सफाई कर सकते हैं ?

जी नहीं, सूर्यास्त के पश्चात घर की साफ़ सफाई नहीं करना चाहिए।

4. सूर्यास्त के पश्चात दही का दान करने से क्या होता है ?

सूर्यास्त के पश्चात दही का दान करते हैं तो ऐसा करने से आपकी सुख-समृद्धि भी चली जा सकती है।

5. क्या सूर्यास्त के बाद खाना या जल खुला नहीं रखना चाहिए ?

सूर्यास्त के बाद भूल से भी भोजन या जल को खुला नहीं छोड़ना चाहिए।